Ayurvedic NuskheGharelu UpayHealthHealth Tips

करौंदा से रोगों का इलाज

करौंदा से रोगों का ईलाज

करौंदा की हमेशा हरी भरी रहने वाली झाड़ी होती है यह एक छोटा सा फल है इसके निम्न प्रकार के लाभ होते है
इसमें विटामिन सी होता है इसके पत्ते जड़ ओर फल सब का उपयोग कर सकते है.

करौंदा से रोगों का इलाज
करौंदा से रोगों का इलाज

इसका सेवन काफी फायदेमंद है ये आपके शरीर की बीमारियों को खत्म करने में भी सहायक है इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन विटामिन  सी और केल्सियम होता है. इसका प्रयोग अनेक रोगों को ठीक करने के लिए किया जाता है-

मिरगी के लिए

मिरगी के रोगियों के लिये करौंदे के पत्ते छाछ में पीसकर 15 दिन तक हर रोज़ देने से मिरगी के दौरे पड़ने बंद हो जाते हैं।

खांसी के लिए

खांसी के लिए अगर ये फायदेमंद होता है. अगर आपको खांसी हो गई है तो आप करौंदा के पत्ते के रस में शहद मिला कर इसका सेवन करने से आप की खांसी ठीक हो जाएगी.

प्यास के लिए

अगर आप को ज्यादा प्यास लगती है तो आपको पके फल से बने चूर्ण का सेवन करे इससे पित्त एवं कफ विक्ति अतिपिपासा में लाभ होगा.

क्रिप्टो करेंसी क्या है?

मुहँ के लिए

करौंदा में बहुत गुण होते है  ये मुंह की बीमारियों को भी ठीक करने में मदद करता है आप अगर इसकी फल की चटनी बना कर खाने से आप के मुंह की बीमारी को ठीक कर देता है.

पेट के लिए

अगर आप को जादा खाने से पेट में दर्द होने लग जाता है तो आप करौंदा के फल के चूर्ण या जड़  के चूर्ण में शहद मिला कर खाने से आराम मिलता है

बुखार के लिए

अगर आप का बुखार कम नहीं हो रहा तो आप करोदे के पत्तो का गाढा बना कर इस का सेवन करने से  आप की बुखार कम हो जाती है ओर बुखार में होने वाली जलन  या दर्द भी कम हो जाता है आप को इस से आराम मिलेगा

घाव के लिए

अगर किसी को चोट लगने से घाव हो जाता है तो आप करौंदा के जड़ को पिस कर घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है,
ये आप को लाभ देगा.

खूजली के लिए

अगर आप खूजली से परेशान है तो आप करौंदा के पके फल ओर जड़ को  =पीसकर लगाने से आराम मिलेगा और करौंदी का मूल ओर नीबू का रस को कपूर के साथ पिस कर लगाने से आप की खूजली की समस्या दूर हो जाती है.

पेरो के लिए

अगर आप के पेरो का फटना ठीक नहीं हो रहा तो आप करौंदा के बीजो को पिस कर लगाने से पेरो के घाव में फायदा होगा ओर दर्द भी ठीक हो जाएगा.

आँखों के लिए

करौंदा के ताजे पत्ते का रस निकल कर इस को छानकर आखो में दो-दो बूंद डालने से आखो की समस्या दूर हो जाती है.

चमेली से रोगों का इलाज

हड्डियों के लिए

करौंदा में पाए जाने वाले केल्सियम हड्डियों को मजबूत करता है और इसमें विटामिन सी भी होते है. जोकि हड्डियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है.

वजन के लिए

अगर किसी वजह से आप का वजन बढ़ रहा है तो आप करौंदा के फल का जूस बनाकर इस का सेवन कर सकते है इस में फाइबर की मात्रा अधिक होता है जिससे आप को वजन कम करने में मदद मिलती है.

दिल के लिए

करौंदा का जूस दिल के लिए भी बहुत ही लाभदायक होता है इसके सेवन से क्रोस्टेल के स्तर को सतुलित रखने में मदद मिलती है इससे दिल की बीमारियों दूर रहती है.

इम्युटी  के लिए

करौंदा का प्रयोग  करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढती है करौंदा के सेवन हमारे शरीर को बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है जिससे बीमारियों का खतरा कम हो जाता है.

आज इस आर्टिकल में हमने आपको करौंदा से रोगों का इलाज के बारे में जानकारी दी इसको लेकर आपका कोई सुझाव या सवाल है तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close