Gharelu UpayHealthHealth Tips

क्रिप्टो करेंसी क्या है?

क्या है डिजिटल करेंसी ये एक लेन देन का जरिया है ये भारतीय रूपये ओर अमेरकीय डालर के बराबर है फर्क बस ये है की ये दिखाई नहीं देता है और ना ही आप इस को छु सकते है  इसलिए इस को डिजिटल करेंसी कहते है इससे किसी भी देश में लेन देन कर सकते है.

क्रिप्टो करेंसी क्या है?

क्रिप्टो करेंसी क्या है?
क्रिप्टो करेंसी क्या है?

इससे ऑनलाइन ही खरीद या बेच सकते है जोकि हम भारतीय बैंक में की गई ट्राजेक्सन का पता लगा सकते है पर इसका नहीं कर सकते इसका पता तब ही चल सकता है जब इसका लेन देन कर रहे हो.

क्रिप्टो करेंसी कितने प्रकार की होती है-

इस समय में क्रिप्टो  करेंसी के बहुत ही रूप है यहाँ हम कुछ लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी के बारे में बतायेंगें. आपको इसके बारे में कम लोग जानते है बिटकॉइन को दुनिया की सबसे पहली क्रिप्टो करेंसी कहा जाता है  इसे 2009 में बनाया गया था ये ईक डिजिटल करेंसी है इस पर किसी सरकार का कोई नियत्रण नहीं है  इस की कीमत जादा  होती जा रही है जिस  बजह से ये लोकप्रिय होती जा रही है

ब्लाकचेन क्या है

ब्लाकचेन एक डिजिटल सार्वजनिक बही खाता है इसे डिजिटल बही की बजह से आप  क्रिप्टो करेंसी का संचालन होता है इसमें लेन देन को एक सार्वजनिक बही खाता में रिकोर्ड और सेव करके रख दिया जाता है यहाँ पर अगर एक बार भी कोई लेन देन दर्ज  हो जाता है तो  ना ही इस में कोई बदलाव किया जा सकता है ना ही इस को हटाया जा सकता है इसी बजह से ये क्रिप्टो करेंसी का भरोसेमंद है इस लिए इस को कोई बेंक  की जरूरत नहीं होती इस तरह से  ब्लाकचेन एक टेक्नोलॉजी है इसका लाभ आने वाले समय में बहुत ज्यादा हो गया है इसकी मदद से लेन देन की लागत में कमी आ गई ओर फर्जी लेन देन से भी छुटकारा मिल गया.

चमेली से रोगों का इलाज

लेन देन

इसका लेन देन आप कर सकते है  इस के लोकप्रिय होने के करण आप इस को एस्चेंज के जरिये खरीद सकते है  पूरी दुनिया में लेन देन का काम चल रहा है जहाँ  बित्कोइन इथेरियम तेथर जेसी  दनिया भर की डिजिटल मुद्राये खरीदी जा सकती है और आप अगर किसी को कुछ समान बेच रहे है और उसके पास क्रिप्टो करेंसी है तो आप उस से समान के बदले करेंसी खरीद सकते है

ट्राजेक्सन

अब हम आप को बतायेगे की हम इस का ट्र्जेक्सन केसे करते है जैसे बैक में अकाउंट होता है उस पर सरकार का कंट्रोल होता है पर इस करेंसी पर किसी का कंट्रोल नहीं होता है इसमें नेटवर्क के जरिये लेन देन होता है इस में दो तरीके होते है एक वो जिसमें आप फड़ भेजते हो दूसरा वो जो डिजिटल करेंसी को भेजता है भेजने वाले को खरीदने वाले का पासवर्ड चाहिये होता है वो उस पासवर्ड डालेगे और खरीदने वाले के पास भेज देगे, तब जाकर आप को वो क्रिप्टो करेंसी मिलती है

क्रिप्टो के नुकसान

हम आप को इस से होने वाले नुकसान भी बतायेगे इस को खरीदने या बेचने के लिए पासवर्ड या फिर प्राइवेट की की जरूरत होती है अगर कभी भी  आप पासवर्ड भूल गए तो आप अपनी करेंसी को खो देगे  ये आप के लिए बहुत जोखिम भरा है वो इसलिए क्योंकि  ये अनुगुलेटर है और आने वाले समय में इस की डिमांड खत्म हो सकती है इसमें काफी कम जोखिम होता रहता है  जिससे आप को नुकसान भी हो सकता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close