Health Tips

Himalaya Gokshura खाने के फायदे और नुकसान

Himalaya Gokshura एक यह Medicine है लेकिन इसका प्रयोग आप सही तरीके से कर लें तो आपके लिए यह बहुत ही फायदेमंद Medicine है और ज्यादातर बॉडी बिल्डर्स इसका use ज्यादा करते हैं क्योंकि यह बॉडी बिल्डर बॉडी को Gain करने में उनकी मदद करती है इसीलिए बॉडी बिल्डर से ज्यादा खरीदते हैं और यह कई बीमारियों के उपचार में भी काम आती है. आज हम इस आर्टिकल में आपको Himalaya Gokshura खाने के फायदे और नुकसान के बारे में आपको नीचे कुछ जानकारी देंगे.

Himalaya Gokshura खाने के फायदे और नुकसान
Himalaya Gokshura खाने के फायदे और नुकसान

Himalaya Gokshura खाने के फायदे – Benefits of Himalaya Gokshura Hindi

गठिया रोग के उपचार करता है Himalaya Gokshura

अगर आपको किसी भी प्रकार के जोड़ों के दर्द है या आपके पैरों से चला नहीं जाता है तो आप Himalaya Gokshura का सेवन कर सकते हैं क्योंकि Himalaya Gokshura एक प्रकार की Medicine जो आपको मांसपेशियों की सूजन या मांसपेशियों में होने वाले दर्द को भी दूर कर देती है और अगर Gokshura फल का पाउडर इसका सुबह-सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से आपको किसी प्रकार का दर्द नहीं होता. अगर आपको किसी भी प्रकार का दर्द हो गया है फूल का पाउडर ले सकते हैं क्योंकि यह पूरी तरह से आयुर्वेदिक औषधि है.

Himalaya Gokshura के फायदे त्वचा के लिए

अगर आपको skin का कोई रोग हो गया है तो आप Gokshura फल या इसके Medicine का use कर सकते हैं क्योंकि यह आपके skin  पर हुई किसी भी समस्या को दूर कर सकता है जैसे त्वचा पर सूजन आना, दाग धब्बे, कील मुहासे सभी में आप इस मेडिसिन का use कर सकते हैं जिससे आपको इन सभी समस्याओं से दूर करने में help मिलेगी.

Himalaya Gokshura के चिकित्सीय उपयोग

  1. स्वप्नदोष
  2. कम एनर्जी, कम कामेच्छा
  3. पेशाब रोग
  4. वीर्य दोष
  5. वीर्य जल्दी निकलना
  6. वीर्य नहीं निकलना

Himalaya Gokshura का use सोच समझ कर करे

जो लोग आंख मूंद कर इसका use करने के बारे में सोच रहे हैं उनके लिए यह जानना जरूरी है कि Himalaya Gokshura कोई चमत्कार नहीं है। यह उन लोगों के लिए है जिनका Testostrone level कम है और इसका effect भी ऐसे लोगों पर ही दिखता है। अगर आपकी age 30 से नीचे है और Workout कर रहे हैं तो आपका Testostrone level वैसे ही काफी अच्छा होगा। ऐसा नहीं कि उसपर Himalaya Gokshura का use करने से Level double हो जाएगा।

अगर आप ये सोचते हैं कि Himalaya Gokshura खाने से Body बन जाएगी तो भी आप गलत सोचते हैं। अगर आपकी Diet अच्छी नहीं है तो इस टेबलेट को खाने से कोई फायदा नहीं होने वाला, क्योंकि Body तो Diet से ही बनती है। Medicine केवल Body बनाने का माहौल बनाती हैं और Diet को सही ढंग से use करने में मदद करती हैं।

Himalaya Gokshura की Dose

Himalaya Gokhsura की हर टेबलेट में मात्रा 250mg की होती है। दिन में दो बार एक से दो टेबलेट का सेवन कर सकते हैं। अगर आप इस Supplement की बजाए एक दवा के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं तो फिर Doctor से बात कर लेनी चाहिए। इसकी पहली Dose Workout से करीब एक घंटे पहले ली जा सकती है। इसे खाली पेट भी ले सकते हैं।

Himalaya Gokshura व अन्य Medicine

Body Building में इन दिनों में Ashwagandha और Satavari का भी जमकर use हो रहा है। ये दोनों दवाएं भी रिकवरी और ग्रोथ में मदद देती हैं। Satavari एक बेहतरीन दवा है जिसका use कई रोगों के इलाज में किया जाता है। शतावर या Satavari आपको हमेशा जवान बने रहने में मदद करती है। यह रोगों से लड़ने की ताकत बढ़ाती है। इससे स्पर्म काउंट बढ़ता है।

पेशाब से जुड़े रोगों को ठीक करती है और अच्छी नींद, माइग्रेन व खांसी सहित कई बीमारियों के इलाज में काम आती है। इसकी एक और क्वालिटी है और वो ये है कि इसे खाने से वेट बढ़ सकता है। कुछ लोग इसे साइड इफेक्ट के तौर पर देखते हैं मगर गेनिंग कर रहे GYM जाने वाले लोग इसी साइड इफेक्ट पर फिदा हैं।

Himalaya Gokshura खाने से Side Effect

  1. इस दवा को बच्चो की पहुंच से दूर रखे।
  2. इसे ज्यादा मात्रा मे नहीं ले।
  3. गोक्षुरा का गुण मूत्रल है, जिससे पेशाब ज्यादा होता है।
  4. यदि आपको इसके खाने के बाद कोई भी साइड एफफ़ेक्ट्स नज़र आए तो इसे लेना तुरंत बंद करदे और डॉक्टर की सलाह के बाद ही ले।
  5. दवा के सेवन का असर थोड़े दिनों या सप्ताह के बाद ही देखने को मिलता है।

आज हमने इस आर्टिकल मेन आपको बताया की Himalaya Gokshura खाने के फायदे और नुकसान क्या क्या है अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया तो Like करे Comment करे और Share करना न भूलें

अगर आपको हमारे आर्टिकल से जुड़ी और जानकारी लेनी है तो नीचे comment करके भी पूछ सकते है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close