Tech

ROM क्या है और इसका काम क्या होता है?

आज हम आपको आपको बताएँगे कि ROM क्या है और इसका काम क्या होता है? अभी तक हमने आपको RAM के बारे में बताया था और साथ ही में आपको ये भी बताया था कि RAM और ROM क्या है लेकिन आज हम आपको ROM के बारे में पूरी detail से बताएँगे.

ROM क्या है और इसका काम क्या होता है?
ROM क्या है और इसका काम क्या होता है?

आपने Memory के बारे में तो सुना ही होगा जो हमारे पास दो होती है जिसमे से एक PRIMARY MEMORY होती है और यह दो तरह की होती है. इसमें से एक है ROM Memory है और दूसरी RAM Memory जिसमे से हम आपको आज बताएँगे कि ROM Memory क्या है और इसका काम क्या है?

ROM की full form है-

R – Read
O – Only
M – Memory

इसको देख  कर ही लग रहा है कि  ROM में हम सिर्फ data को पढ़ सकते हैं, ना ही तो हम इसमें कुछ लिख सकते हैं और ना ही डायरेक्ट इसमें काम कर सकते हैं, क्योंकि ये non-volatile Memory है जिसका मतलब है कि अगर हम Computer को shut down कर देते हैं तो हमारा data इसी में save रहता है.

जैसे हमने आपको पहले भी बताया है कि अगर हम  RAM Memory में काम करते है तो वह काम ROM में transfer हो जाता है. अगर हम कोई भी file जैसे audio, video, photo, document और जो भी Software install करते हैं वह सारा data ROM Memory में ही save होता है. ROM की speed RAM के बजाये कम होती है, इसलिए हम पहले काम RAM में करते हैं.

ROM  के प्रकार

ROM  चार प्रकार की होती है जो इस तरह से है,

MROM

MROM
MROM

MROM  की full form है MASKED READ ONLY MEMORY. शायद आपने इसका नाम नहीं सुना होगा क्योंकि ये बहुत पहले use होती थी. ये memory बहुत ज्यादा मंहगी होती थी और ये hard wired devices है, जिसमे  पहले से  pre-programmed  data और instruction store किया जाता है, लेकिन आज के समय में आपको ये Memory नहीं मिलेगी.

PROM

PROM
PROM

PROM  की full form है PROGRAMMABLE  READ ONLY MEMORY. ये ऐसी memory है, जिसमे हम कुछ अपडेट कर सकते हैं, लेकिन अगर हमने इसमें एक बार अपडेट कर दिया तो हम इसको change नहीं कर सकते. आप सोच रहे होंगे कि इस Memory में हम अपडेट कैसे कर सकते हैं तो हम आपको बता देते हैं कि इसमें छोटे – छोटे fuse होते हैं, जिसकी मदद से हम इसमें अपडेट कर सकते हैं. लेकिन ये बात ध्यान रखना कि इसमें एक बार अपडेट करने के बाद दोबारा change नहीं कर सकते हैं.

EPROM

EPROM
EPROM

EPROM की full form है ERASABLE PROGRAMMABLE READ ONLY MEMORY जिस तरह नाम से ही Show कर रहा है कि erase करना मतलब हम इस memory को ERASE भी कर सकते हैं. यहाँ erase का मतलब है कि save file में कुछ अपडेट करना लेकिन erase करने का तरीका थोडा सा अलग है इसके लिए हमें इस Memory को 40 minute तक ULTRA VIOLET LIGHT से पास किया जाता है तब जाके ये Memory खाली होती है.

EEPROM

EEPROM
EEPROM

EEPROM की full form है ELECTRICALLY ERASABLE READ ONLY MEMORY. इस memory के नाम से ही पता लग रहा है कि इसका use ज्यादा suitable है क्योंकि हम किसी चीज को तभी बढ़ाते हैं जब उसमे कुछ ज्यादा better दिखाई देता है. इस Memory की मदद से हम data को 10 हजार बार erase कर सकते हैं, इसमें हम data की कोई भी location को सलेक्ट करके उसी को हम erase कर सकते हैं और programmed भी कर सकते हैं.

ROM MEMORY के फायदे

  • यह RAM की बजाय सस्ती होती है.
  • यह non- volatile होती है जिसका मतलब है कि हमारी data एक बार save हो चुकी है तो उसे सिर्फ हम ही change कर सकते हैं ये अपने आप change नहीं हो सकती.
  • अगर हम इस memory का use करते हैं तो हमें इसे बार-बार रिफ्रेश करने की जरुरत नहीं है.
  • इस Memory पर हम विश्वास कर सकते हैं, क्योंकि power off करने के बाद भी हमारा काम change नहीं होता.

तो हम उम्मीद करते हैं कि आपको समझ में आ गया होगा कि ROM क्या है और इसका काम क्या है लेकिन अगर आपको इसमें कुछ भी doubt हो तो हमें comment करके पूछ सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close