HealthHealth Tips

डाबर च्यवनप्राश के Benefits और Side Effects

डाबर के बहुत से प्रोडक्ट आपको मार्किट में मिल जायेंगे लेकिन जैसे ही सर्दी का मौसम आता है वैसे वैसे पतंजलि और डाबर च्यवनप्राश की मांग सबसे ज्यादा हो जाती है. डाबर च्यवनप्राश खाने के बहुत से फायदे है और बहुत की कम नुकसान या यूँ कहे की बस फायदे ही फायदे है. डाबर च्यवनप्राश का इस्तेमाल बच्चों से लेकर बड़े-बूढ़े भी कर सकते है. इसके इस्तेमाल से कई तरह की बिमारियों से बचा जा सकता है.

च्यवनप्राश की खोज ‘च्यवन’ नामक एक ऋषि द्वारा की गयी थी जिसकी वजह से इसे डाबर च्यवनप्राश कहा जाने लगा. आज इस आर्टिकल में हम आपको डाबर च्यवनप्राश खाने के Benefits और Side Effects के बारे में बताएँगे.

डाबर च्यवनप्राश क्या है?

डाबर च्यवनप्राश खाने के फायदे और नुकसान

यह कई तरह की जड़ी बूंटी से बनाया गया एक ऐसा पेस्ट है जिसका इस्तेमाल ज्यादातर सर्दी के मौसम में कई तरह की बीमारयों से बचने के लिए किया जाता है. इसमें लगभग 49 जडीबुटी का इस्तेमाल किया जाता है.

डाबर च्यवनप्राश में क्या क्या मिलाया जाता है?

  • आवंला
  • दशमूल
  • वृद्धि
  • मोठा
  • मेदा
  • खरेदी
  • द्राक्षा
  • हरद
  • जीवन्ति
  • इलायची
  • काकोली
  • विदारीकन्द
  • अडूसा
  • काकनासा
  • तिल का तेल,
  • घी या मक्खन
  • नीलोत्पल
  • दालचीनी
  • लंबी काली मिर्च
  • मश्परनी
  • जीवक
  • कचूर
  • रिश्बक
  • पूर्णव
  • शुद्ध शहद
  • इलायची और करकट श्रीन्ग्जी

डाबर च्यवनप्राश का सेवन कितना करे?

इसके सेवन आपके पचाने की क्षमता पर निर्भर करती है. इसका सेवन 0 से 1 साल के बच्चों को नहीं कराना चाहिए.

उम्र मात्रा
1-5 साल 1/2 चम्मच
6-12 साल 1 चम्मच
12 से अधिक उम्र के लिए 1 से 2 चम्मच
गर्भावस्था के दौरान 1/2 चम्मच

डाबर च्यवनप्राश खाने के Benefits और Side Effects

इसका इस्तेमाल ज्यादातर सर्दी के मौसम में किया जाता है. इसका इस्तेमाल सर्दी जुखाम और आम बीमारयों से बचने में किया जाता है. डाबर च्यवनप्राश के इस्तेमाल से शरीर हष्ट पुष्ट बनता है इसके अलावा इसके इस्तेमाल करने से शरीर में चुस्ती आती है. आज मार्किट में कई ब्रांड के च्यवनप्राश आपको मिल जाएँगे.

डाबर च्यवनप्राश खाने के Benefits

  • इसका सेवन करने से शरीर की immunity power बढ़ जाती है.
  • डाबर च्यवनप्राश के रेगुलर इस्तेमाल करने से शरीर में स्फूर्ति रहती है.
  • इसके इस्तेमाल करने से पाचन तंत्र मजबूत होता है.
  • डाबर च्यवनप्राश का इस्तेमाल करने से याददास्त तेज होती है.
  • अगर आप रेगुलर इसका सेवन करते है तो आपको सर्दी जुखाम होने का खतरा कम हो जाता है.
  • श्वसन तंत्र को मजबूत करने में डाबर च्यवनप्राश काफी मदद करता है.
  • यह कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करने में भी मदद करता है.
  • डाबर च्यवनप्राश के सेवन से शरीर में जमे हुए toxin निकल जाते है जिससे आपका शरीर पहले से अच्छी तरह कार्य करने लगता है.
  • यह हमारे blood pressure को सामान्य बनाये रखने में भी मदद करता है.
  • इसके इस्तेमाल से ब्लड भी साफ़ होने लगता है जिससे आप कई तरह के स्किन रोगों से छुटकारा पा सकते है.
  • डाबर च्यवनप्राश का इस्तेमाल हड्डियों को मजबूत करने के लिए भी किया जाता है.

डाबर च्यवनप्राश खाने के Side Effects

वैसे तो डाबर च्यवनप्राश खाने का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है लेकिन तासीर गर्म होने की वजह से आपको इसका अधिक सेवन नहीं करना है. बाकी कुछ तरह की condition में आपको इसका परहेज भी करना है.

  • अगर आपको पेट का अल्सर है तो आप इसका सेवन ना करे.
  • डायरिया होने पर इसके सेवन से बचना चाहिए.
  • अगर आपको उल्टी या दस्त है तो उस दौरान एक बार इसका सेवन नहीं करना चाहिए.
  • गर्भवती महिला को इसके सेवन से पहले डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए.

Final Word

आज इस आर्टिकल में हमने आपको डाबर च्यवनप्राश खाने के फायदे और नुकसान, Dabur Chyawanprash ke fayde, Dabur Chyawanprash ke nuskaan, Dabur Chyawanprash kaise le, Dabur Chyawanprash kab lena chahiye के बारे में बताया है. अगर आपको इसके बारे में कुछ और जानना है, तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखकर बताये.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close