Hindi TutorialsTricks

वकील बनने के लिए क्या करें?

हर इंसान का एक सपना होता है कि वह अपनी जिन्दगी में कुछ बनना चाहता है, कोई पुलिसकर्मी, डॉक्टर और कोई वकील बनना चाहता है. वकील बनने के लिए हमें LLB की पढ़ाई पूरी करनी पडती है. LLB की फुल फॉर्म होती है- Bachelor of Low. आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे है की वकील बनने के लिए क्या करें?.

Read This -> Computer/Laptop में पासवर्ड कैसे सेट करें?

वकील बनने के लिए क्या करें?

वकील बनने के लिए क्या करें?

वकील बनने के लिए क्या आवश्यक है?

अगर आप वकील बनना चाहते है तो वकील बनने के लिए क्या आवश्यक है वो हम आपको बताने जा रहें है-

आपकी पढाई- वकील बनने के लिए आपकी पढाई 12 तक की पूरी होनी चाहिए, आपने आपकी पढाई किस सब्जेक्ट से की है इसका इस पर कोई फर्क नही पड़ता, आप किस भी सब्जेक्ट में पढ़े हो आप वकील की पढाई कर सकते हो. पढाई करने के बाद आपको वकील की प्रैक्टिस करनी पडती है.

इंटर्नशिप- आपको अपने कोर्स में किताबी नॉलेज के अलावा प्रैक्टिकल अनुभव भी होना चाहिए और इसमें इंटर्नशिप बहुत जरूरी है. इसके लिए आपको पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको इंटर्नशिप करनी पडती है, जिसमें आपको सिखाया जाता है कि दो वकील कैसे वकालत करते है, किस तरह कोर्ट में बोला जाता है. किस पक्ष के लिए आपको वकील बनना है इसके लिए आपको इंटर्नशिप करना जरूरी है.

स्टेट बार के लिए काउंसिल के लिए Enroll करें – एक बार जब आप अपना कोर्स खत्म कर लेते हैं तब आपको किसी भी राज्य बार काउंसिल में खुद को रजिस्टर करना होगा और उसके बाद ऑल इंडिया बार एग्जामिनेशन (एआईबीई) देना होगा, इसके बाद आपको प्रैक्टिस का सर्टिफिकेट मिलता है, इसके बाद आपकी पढाई पूरी हो जाती है.

Read This -> Mobile का आविष्कार कब और किसने किया?

वकील का कोर्स कितने साल का होता है-

वकील का कोर्स दो प्रकार का होता है एक 3 साल के लिए और एक 5 साल के लिए होता है. 3 साल का कोर्स हम तब कर सकते है जब आप ग्रेजुएशन कर लेंगे. इसके बाद ही हम वकील का कोर्स 3 साल का कर सकते है. और दूसरा 5 साल का कोर्स तब किया जाता है जब हम हमारे स्कूल की पढाई होते ही यानी 12 वी पास करते ही वकील का कोर्स करना चाहते है. वकील का कोर्स करने के लिए हमारे 12 वी में नम्बर अच्छे होने चाहियें.

वकील बनने के लिए कोर्स की अवधि –

  • बीए एलएलबी की अवधि पाँच साल होती है.
  • बीकॉम एलएलबी की  अवधि पांच साल  होती है.
  • बीएससी एलएलबी की अवधि पांच साल होती है.
  • एलएलबी की अवधि तीन साल होती है.
  • एलएलएम की अवधि दो साल होती है.

Read This -> फेसबुक का आविष्कार कब और किसने किया?

वकील बनने के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटी

भारत में 18 University है जहाँ से पर आप वकील की पढ़ाई कर सकते है. इनमें से टॉप 5 के नाम है-

  1. National Law School of India University, Bangalore
  2. National Law University, New Delhi
  3. NALSAR University of Law, Hyderabad
  4. Rajiv Gandhi School of Intellectual Property Law, Indian Institute of Technology, Kharagpur
  5. National Law University, Jodhpur

वकील दो प्रकार के होते है-

प्राइवेट वकील या अधिवक्ता

प्राइवेट अधिवक्ता वो होता है जो सरकार के लिए काम नहीं करता है लेकिन या तो  खुद प्रैक्टिस करता हैं या आप किसी भी तरह का केस लड़ सकते है जिसमें आपका मन हो, इसमें आपको सरकार द्वारा कोई अन्य राशि नही दी जाएंगी. जब आप अपने हिसाब से केश लेंगे तो आप बड़ी फीस भी कमाएंगे और साथ ही आपकी सैलरी भी बहुत ज़्यादा होगी। इसमें आप अपने क्लाइंट से कितनी भी राशि लें सकते है इसमें सरकार का कोई बेनिफिट नही होगा.

सरकारी वकील

सरकारी वकील एक गवर्नमेंट कर्मचारी होता है और इसलिए वो गवर्नमेंट के पेरोल पर होता है। इस जॉब का सबसे बड़ा बेनिफिट यह है कि आपके पास जॉब सिक्योरिटी होती है और आपको वो सारे फायदे मिलते हैं जो बाकी सरकारी कर्मचारियों को मिलते हैं। इसमें वकील किसी भी तरह की अन्य राशि नही लें सकता.

Read This -> Ads.txt क्या है और इसे अपने Website पर कैसे लगाये?

सरकारी वकील बनने के लिए आपके पास क्या-क्या योग्यता होनी चाहिए-

  • वह भारत का नागरिक होना चाहिए.
  • उसकी आयु कम-कम से 18 वर्ष से उपर होनी चाहिये.
  • वह दिवालियाँ नहीं होना चाहियें.
  • आपको कम-से कम 7 साल तक किसी कोर्ट में काम किया हुआ होना चाहियें.
  • याददास्त तेज होनी चाहियें.
  • धैर्यवान व्यक्ति होना चाहिय.
  • बोलने में परफेक्ट वकील होना चाहिए.
  • वकील में योग्यता होनी चाहिए की उसका माइंड हमेशा Active होना चाहिए.

वकील की फीस कितनी होती है-

वकील की फीस अलग-अलग जगह अलग-अलग होती है. जो निम्न प्रकार से है-

जूनियर एडवोकेट की फीस 300 रुपए से लेकर 25 लाख तक की हो सकती है. इनमें राम जेठमलानी सबसे बड़े वकील थे जो प्रतिदिन 10 से 20 लाख रूपये कमा लेते थे.

सबसे पहले भारत में सबसे पहला कोर्ट कहां बना था-

1974 में सुप्रीमकोर्ट बनाया गया था कोलकता में.

Final Word

आज यहाँ पर हमने आपको vakil kaise bane,sarkari vakil kaise bane,advocate kaise bane,vakeel kaise bane,high vakeel kaise bane,sarkari vakeel kaise bane,vakil kaise bane in hindi,vakil kaise banate hai,vakil kaise bane puri jankari,vakil kaise banate hain,sarkari vakil kaise bante hai,lawyer kaise bane के बारे में बताया है. अगर आपको इससे जुडी कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close