Ayurvedic NuskheGharelu UpayHealthHealth Tips

मेथी से रोगों का इलाज – Methi in Hindi

मेथी से रोगों का इलाज – Methi in Hindi :- मेथी हरी सब्जियों में अति गुणकारी शक्तिवर्धक विटामिन से भरपुर मेथी गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को प्रकति का उपहार है। इसकी तासीर गर्म और खुश्क होती है। शहर भले ही यह मँहगी बिकती है परन्तु गाँवों में तो इसका भाव कोई जल नहीं होता। गरीब वर्ग के स्वास्थ्य के लिए यह टॉनिक और औषधि काम देती है। इसके द्वारा हम इन रोगों से मुक्ति पा सकते हैं :

मेथी से रोगों का इलाज – Methi in Hindi

मेथी से रोगों का इलाज - Methi in Hindi
मेथी से रोगों का इलाज – Methi in Hindi

वायु एवं वात रोग

जिन लोगों को वायु रोग के कारण शारीरिक कष्ट होते हैं उनके लिये मेथी का साग बहुत लाभकारी है। यदि चाहें तो मेथी की भूजी बनाकर भी खा सकते हैं।

गठिया

1. गठिया रोग में चार चम्मच दानेदार मेथी को रात के समय एक गिलास पानी में भीगो दें। सुबह उठ कर इन्हें उबाल कर थोड़ा-सा गर्म पानी रहने पर उसे छान कर पी जाएँ।

2. मेथी को गीले कपड़े में पोटली बाँधकर रख दें। 24 घंटे के पश्चात पोटली को खोलें। उसमें अंकुर निकल आएँगे। मेथी के अँकरों का सेवन करें। स्वाद के लिये नमक और काली मिर्च पिसी हई इसमें मिला सकते हैं। कुछ मास के प्रयोग से गठिया रोग दूर हो जाएगा।

चोट लगने पर

चोट लग जाए तो मेथी के पत्तों की पुल्टिस बाँध दें। इससे चोट की सारी सूजन जाती रहेगी।

भूख न लगने पर

जिन लोगों को भूख न लगती हो वे वास्तव में बड़े रोगी माने जाते हैं क्योंकि खाना न खाने का अर्थ है अपनी सेहत का नाश करना जिससे आपका स्वास्थ्य गिरेगा। स्वास्थ्य गिरने से ही अनेक रोग इन्सान को घेर लेते हैं। ऐसे में आपके लिये :

सात दाने सूखी मेथी में थोड़ा-सा देसी घी डाल कर उन्हें सेक लें। समय जब मेथी का रंग लाल हो जाए तो उसे नीचे उतार लें। ठंडी उसे पीस लें और उसमें पाँच ग्राम शहद मिला कर एक मास तक न करते रहें तो आपके सारे पेट रोग ठीक हो जाएँगे। भूख भी खूब लगने लगेगी।

खूनी बवासीर

हरी मेथी का साग प्रतिदिन दही के साथ खाने से बवासीर रोग दूर हो जाता है।

शारीरिक कमजोरी

मेथी का साग लहसुन, अदरक का छौंका लगाकर खाने से शारीरिक कमज़ोरी को दूर करता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close