Ayurvedic NuskheGharelu UpayHealthHealth Tips

टमाटर द्वारा रोग उपचार

आज इस आर्टिकल में हम आपको टमाटर के फायदे तथा टमाटर से कैसे रोगों का उपचार किया जा सकता है उसके बारे में बताने जा रहें है. टमाटर से अनेक प्रकार के रोगों का इलाज किया जा सकता है. टमाटर की खेती पूरे साल की जा सकती है. टमाटर का उपयोग हम सब्जी बनाने, चटनी बना के सलाद या फिर सूप बना के भी कर सकते है. टमाटर का दूसरा नाम लाइकोपोर्सिकान एस्कुलेंटम  है. टमाटर में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, फास्फोरस व विटामिन सी पाये जाते हैं। सबसे ज्यादा मात्रा में टमाटर में विटामिन पाया जाता है. टमाटर के रस को निकाल के उसमें नीबू मिला के लगाने से चहरे पर सुन्दरता दिखाई सेने लगती है. टमाटर की खेती के लिए औसत तापमान 18-27 डिग्री सें. है। बहुत ज्यादा सर्दी टमाटर की फसल की लिए बहुत ही हानिकारक है. टमाटर का पौधा हर मिट्टी में उगाया जा सकता है परन्तु अधिक उपयुक्त मिट्टी हल्की अम्लीय से लेकर, दोमट मिटटी मानी जाती है.

टमाटर द्वारा रोग उपचार

टमाटर को मानव जाति के लिए एक प्राकृतिक वरदान कहा जाए, तो यह कोई गलत बात नहीं है इसका कारण है कि टमाटर एक ऐसी शक्तिशाली सब्जी अथवा फल है जिसमे विटामिन ए.बी. सी. डी.सभी पाए जाते हैं. जो कि मानव शरीर के लिए अति उपयोगी है. गाजर की भांति ही इसमें सारे विटामिन है किंतु इन दोनों में केवल इतना अंतर है कि लोग टमाटर का सेवन दल सब्जियों के तड़के के रूप में और सलाद में काटकर भी करते हैं जबकि गाजर का सेवन लोग सब्जी के रूप में भी करते हैं.

टमाटर के 10 फायदे

धनी लोग तो अपने उपचार के लिए विदेश तक भाग जाते हैं बड़े महंगे डॉक्टर से उपचार करवाने की शक्ति उनके दल में है उन्हें बड़े अस्पतालों में भी सारी उपचार प्राप्त हो सकते हैं. परंतु गरीब और आम आदमी तो केवल प्रकृति के सहारे जीवित रह सकते हैं उसी प्रकृति ने इन फल सब्जियों जड़ी-बूटियों को जन्म दिया है मानव शरीर की सुरक्षा के पूरे साधन प्रकृति ने हमें दे रखे हैं जो विज्ञान की शक्ति से कहीं अधिक शक्तिमान है प्रकृति का खजाना तो इस विषय में इतना बड़ा है कि वह कभी भी खाली नहीं हो सकता.

टमाटर उसी खजाने का एक अनमोल हीरा है जो मानव के अंधेरों को प्रकाश में बदल देता है आम आदमी के लिए तो यह स्वास्थ्य अमृत का काम कर देता है इसका गुणों को आप जान ले जो इस प्रकार से हैं – इसकी तासीर न ठंडी है न ही गरम.इसलिए हर आदमी से खुलेपन से सेवन कर सकता है टमाटर हर मौसम में होता है कच्चा है या पक्का इसका प्रयोग दोनों रूपों में होता है परंतु पका हुआ टमाटर आदि गुणकारी होता है.

विटामिन से भरपूर

यह बात तो आपको पहले बताई जा चुकी है टमाटर विटामिन से भरपूर होता है स्वास्थ्य विद्वान सारे के सारे इस बारे में एक मत है कि विटामिन के विषय में टमाटर बहुत धनी है इसमें इतनी अधिक विटामिन मिलते तो संतरा और अंगूर में भी नहीं होते और टमाटर की विटामिंस की विशेषता यह है कि यह गर्म होने पर भी नष्ट नहीं होता टमाटर में सबसे अधिक विटामिन पाए जाते हैं जिनमें विटामिन ‘ए’ की मात्रा सब सब्जियों से अधिक है. हर मानव को सर्वाधिक विटामिन ‘ए’ की आवश्यकता होती है टमाटर में विटामिन ‘सी’ की मात्रा बहुत अधिक पाई जाती है जो शरीर के अंदर रहने वाले विजातीय तत्वों को निकालती है इससे मानव सदा सुस्त और स्वस्थ रहता है.

टमाटर में चूना

टमाटर के अंदर चूना सब फलों और सब्जियों से अधिक होता है.चूना ही मानव शरीर की हड्डियों को शक्तिशाली बनाता है. दांतो की हड्डियों की कमजोरी चूने से ही दूर होती है. इसलिए जिन लोगों के दांत कमजोर होने टमाटर का सेवन अधिक करना चाहिए.

लोहा

टमाटर के अंदर लोहे तत्व बहुत अधिक मात्रा में पाए जाते हैं. गर्भवती नारियों को लौह तत्वों की काफी मात्रा में आवश्यकता होती है. इसलिए टमाटर उनके लिए तथा होने वाली शिशु के लिए लाभदायक माना जाता जो महंगा भी नहीं है.

कब्ज रोग

बढ़ते हुए कब्ज रोगों से अनेक बीमारियां जन्म ले रही है यदि आप कच्चे टमाटर प्रतिदिन ढाई सौ ग्राम सेवन करें तो कब से बच सकते हैं.

पेट के कीड़े

हर रोज सुबह उठकर लाल टमाटर पर काला नमक छिड़क कर खाएं अथवा टमाटर का जूस निकालकर काले नमक मिलाकर पीने से कीड़े मर जाते हैं.

मुंह के छाले

जो लोग मुंह के छालों से परेशान उनके लिए सबसे अच्छी दवा टमाटर है उन्हें अधिक से अधिक टमाटर का सेवन करना चाहिए. जो लोग किसी कारणवश टमाटर का सेवन नहीं कर सकते उन्हें टमाटर का रस हर रोज दिन में 4 बार पीना चाहिए.

मोटापा कम करें

आजकल मोटापा कम करने की पूरी लहर चल रही है डॉक्टर के पास जो भी रोगी जाता है तो उससे यही कहा जाता है कि अपना वजन कम करो वजन बढ़ने के कारण ही आप रोगी हो रहे हैं. मोटापा कम करने की दुकान तो जगह-जगह खुल गई है मोटापा कम हो न हो रोगी का धन तो कम हो जाता है मोटापा एक व्यापार बन गया है. मोटापे का उपचार हम टमाटर द्वारा कर सकते हैं मोटापे का शिकार लोग यदि योगासनों का सहारा ले और उसके साथ से टमाटर का अधिक से अधिक सेवन करें तो उन्हें शीघ्र लाभ हो सकता है.

कैसे सेवन करें टमाटर

हर सुबह निहार मुंह ढाई सौ ग्राम या 150 ग्राम जैसा आपको हजम हो लेकर नींबू का रस नमक और प्याज के रस के साथ निरंतर खाते रह जल्दी ही मोटापे से मुक्ति मिल जाएगी.

चर्म रोग

टमाटर खट्टा होता है और इसकी खटाई खून साफ करने का प्राकृतिक कार्य करती है. इस कार्य के लिए टमाटर का अकेले ही सेवन करें. किसी और चीज के साथ मिलाकर इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए. टमाटर का रस भी चरम रोग को दूर करता है. खून साफ करता है दिन में तीन चार बार टमाटर के रस का सेवन आपके लिए काफी उपयोगी रहेगा.

गठिया तथा जोड़ों का रोग

ऐसे रोगियों के लिए भी टमाटर का सेवन बहुत ही लाभकारी माना गया है.

शुगर

बढ़ते मधुमेह रोग से इस समय लाखों नहीं करोड़ों लोग चिंतित है. जबकि डॉक्टर लोग खूब धन कमा रहे हैं. यह रोग वास्तव में बहुत बड़े डर का कारण बनता जा रहा है. क्योंकि डॉक्टर तो यही कहते हैं कि इस रोग का कोई उपचार नहीं है. जीना है तो दवाई खाते रहो, जबकि इस रोग का उत्तर बहुत ही सरल है. टमाटर द्वारा हम इस रोग से बच सकते हैं क्योंकि टमाटर के खटाई शरीर के अंदर के शुगर को नष्ट करने की शक्ति रखती है ऐसे रोग से बचने के लिए पहले से टमाटर का सेवन शुरू कर दें ताकि शुगर जैसा रोग जन्म ही ना ले सके.

बच्चों का सूखा रोग

सूखा रोग बच्चों के लिए काफी कष्टदायक माना गया है. ऐसे बच्चों को दिन में चार बार टमाटर का पिला दे तो बच्चा ठीक हो जाएगा. उसका स्वास्थ्य भी अच्छा होगा.
टमाटर के निरंतर सेवन से पीलिया, पेट के रोग, अतिसार जैसे रोग भी ठीक हो जाते हैं ऐसे रोगियों को गर्म और तेल में पक्की चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए.

जीभ पर मैल जम जाने पर

यह भी एक रोग है इसका अर्थ यह होता है कि आपका पेट खराब हो चुका है और आपके मुंह से गंध आती है ऐसे में आपको टमाटर का सेवन अधिक करना चाहिए. सावधान जिन लोगों को तेज खांसी हो उन्हें कच्चे टमाटर का सेवन नहीं करना चाहिए.

Final Word

आज इस आर्टिकल में हमने आपको tomato ke fayde. Tomato: benefits, uses, nutrition facts and side effects, टमाटर के फायदे और नुकसान – benefits of tomato, Tomato Benefits in Hindi. Tamatar Khane Ke Fayde ,टमाटर से किस प्रकार रोगों का उपचार किया जा सकता है इसके बारे में बताया इसको लेकर आपको तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close